chamba-

भरमौर में पारंपरिक पहाड़ी संस्कृति के दर्शन TAGS: | | चंबा (भरमौर)। हिमाचल प्रदेश की पारंपरिक लोक संस्कृति के दर्शन करने हों तो चंबा जिला एक आदर्श जगह साबित हो सकती है। रहन सहन, धार्मिक अनुष्ठान, वेशभूषा या खानपान की बात हो चाहे लोक कलाओं की, यहां सब कुछ आश्चर्यजनक एवं अध्ययन करने लायक है। मणिमहेश यात्रा के दौरान तो …

haridwar-

पति ने डाक से लिखकर भेज दिया- तलाक, तलाक, तलाक TAGS: | | हरिद्वार। मुस्लिम समुदाय के एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी को डाक से चिट्ठी में ‘तलाक, तलाक, तलाक’ लिखकर उससे पीछा छुड़ा लिया। हालांकि इस मामले में विवाद भड़क जाने पर पति को दहेज में ली गई नकदी और सामान लौटाना पड़ गया, लेकिन उसके द्वारा पत्नी को डाक से लिख …

animal sacrifice

पशुबलि पर श्रद्धालुओं और प्रशासन के बीच तनाव TAGS: | | अल्मोड़ा (भिकियासैंण)। पहाड़ी क्षेत्रों में पशु बलि प्रथा को लेकर श्रद्धालुओं और प्रशासन के मध्य टकराव की घटनाएं लगातार जारी हैं। गत दिवस भी काली मां की पूजा में पशु बलि को लेकर तहसील के दो स्थानों पर श्रद्धालुओं और प्रशासन में काफी गर्मा गर्मी हुई और अधिकारियों ने बड़ी …

Cremation-

दाह संस्कार के लिए तो लकड़ी दिला दीजिए सरकार! TAGS: | | करसोग (मंडी)। गांवों में साथ लगते जंगल से अपनी जरूरत के लिए लकड़ी काटना प्रतिबंधित है, अपनी मिलकीयत से वृक्ष काटने के लिए भी विभागीय मंजूरी के लिए लंबी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। लेकिन यहां तो हद ही हो गई। गांव में एक व्यक्ति का निधन पर दाह संस्कार …

पल्लवी से मां की मृत्यु के बाद की रस्में अदा करवाते पुरोहित।

‘मेरे लिए तो तू ही मेरी बेटी, तू ही बेटा…’ TAGS: | | |   मंडी। …बीमार एवं लाचार मां को जब लगा कि उसके बचने की अब कोई उम्मीद नहीं है तो उसने एकमात्र सहारा अपनी सात वर्षीय बेटी पल्लवी को पास बुलाया और बोली- “देख, मेरे मरने से दुखी मत होना… मेरे लिए तो तू ही मेरी बेटी है और तू ही …

chamoli-

‘रम्माण’ के पात्रों का 18 ताल में अनूठा नृत्य TAGS: | | | चमोली (जोशीमठ) । उत्तराखंड की प्राचीन संस्कृति में ‘रम्माण’ का बहुत महत्व है। रम्माण शब्द रामायण से अपभ्रंश होकर कर बना है। ‘रम्माण’ में सभी पात्र पारंपरिक गायन पर 18 ताल में नृत्य कर पूरी रामायण का मंचन करते हैं। उत्तराखंड की इस अनूठी लोक संस्कृति को दो अक्तूबर 2009 …

Kinnaur-Mahila.a-300x225

जनजातीय महिलाओं को पैतृक संपत्ति में हक क्यों नहीं? TAGS: | | | किन्नौर। संसदीय चुनाव की इस बेला में जनजातीय जिला किन्नौर और लाहौल-स्पीति की महिलाएं एकबार फिर से ‘पैतृक संपत्ति में बेटियों को अधिकार’ की मांग लेकर खड़ी हैं। यह जान कर किसी को भी हैरानी हो सकती है कि प्रदेश के उक्त जनजातीय जिलों में महिलाओं को अभी तक भी …

gauri kund-

नहीं खुलेंगे गौरीकुंड के कपाट, मंदिर अभी भी खस्ताहाल TAGS: | | रुद्रप्रयाग ( फाटा)। गौरीकुंड में गौरी माई मंदिर के कपाट बैशाखी के दिन खुलने की सदियों पुरानी परंपरा का निर्वाह इस बार नहीं हो पाएगा। आपदा के कारण क्षतिग्रस्त हुए मंदिर की मुरम्मत नहीं हो पाने के कारण सोमवार को इसके द्वार नहीं खुल रहे हैं।    सदियों से बैशाखी …

jeetu

पहाड़ी संस्कृति में प्रेम गाथाओं की भरमार TAGS: | | देहरादून। पहाड़ी संस्कृति में प्रेम गाथाओं, प्रेम प्रसंगों और प्रेम गाथाओं की भरमार रही है। उत्तराखंड में भी बात चाहे राजुला-मालूशाही की हो या तैड़ी तिलोगा की या फिर जीतू बगड्वाल की। इन सभी प्रेम गाथाओं ने सदियों से पहाड़ी मानसपटल पर अपना प्रभाव जमा रखा है। इनमें सर्वाधिक प्रसिद्धि …

kotdwar-

शराब परोसी व डीजे बजा तो नहीं पढ़ेंगे निकाह TAGS: | | पौड़ी गढ़वाल (कोटद्वार)। उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में शादी-ब्याह जैसे आयोजनों में महिलाओं की शराबबंदी की मुहिम को लगातार ताकत मिलती जा रही है। कोटद्वार जामा मस्जिद ने भी गत दिवस फतवा जारी कर दिया कि जिन विवाह समारोहों में शराब और डीजे का प्रयोग होगा वहां कोई भी मौलवी …

Our Sponsers